book

quoteबकर पुराण हर उस बैचलर लड़के की ज़िंदगी की किताब है जो घर छोड़कर दिल्ली जैसे शहरों में पढ़ने आता है और फिर उन शहरों का हिस्सा हो जाता है । इसके पन्नों पर हर उस लड़के की कहानी है जिसने कभी प्रेम किया हो, मूर्खता की हो, चाय की दुकान पर भारत की विदेश नीति पर परिचर्चा की हो ।

बकर पुराण बैचलर लौंडो का इतिहास, वर्तमान और न बदलने वाला भविष्य है । इसकी भाषा और शैली वही है जो बैचलर के कमरे में होती है, कोई सजावट या अभिजात्यता का ढोंग नहीं है । जो है बस वही है ।quote2

 

Bakar Puran in Press