बैंग्लोर मोलेस्टेशन काण्ड, धोनी और ग़ायब होती चर्चा

विडियो देखिए। धोनी तो गए और साथ ही चर्चा में बैंगलोर काण्ड की जगह भी ग़ायब हो गई। सोशल डिस्कोर्स का शीघ्रपतन ऐसे ही होता है। अंग्रेज़ी के दर्शकों के लिए बता दूँ शीघ्रपतन इम्मेच्यॉर इजेकुलेशन को कहते हैं।

प्राइम टाइम १५: सेव एनर्जी, गो डार्क दिस क्रिसमस

और हाँ टर्कियों को मरते वक्त ईद के बकरे, यूलिन फ़ेस्टिवल के कुत्ते और नेपाल वाले भैंसा कटने वाले पर्व के विपरीत बिल्कुल भी कोई दर्द नहीं होगा क्योंकि ये फ़र्स्ट वर्ल्ड वालों का पर्व है ना।

अलेप्पो के ट्रेंड करने के पीछे की कहानी क्या है?

सीरिया में अलेप्पो ट्रेंड करने से पहले, अलाँ कुर्दी नामक तीन साल के लाल टीशर्ट पहने बच्चे के बीच पर औंधे मुँह मरने से पहले, ऑरेन्ज कलर के सोफ़े पर धूल-धूसरित और ख़ून के निशान वाले बच्चे के चेहरे के ट्रेंड करने से पहले, जो हुआ और जो होता रहा है वो ना तो घास्टली है, ना ही इन्ह्यूमन है, ना ही माइंड नंबिंग है, ये तो अल्ट्रा माइल्ड है।

प्राइम टाइम: नजीब अहमद ग़ायब क्यों हो जाते हैं?

यहाँ पर तीन-चार विकल्प ही दिखते हैं। या तो नजीब कहीं छुप गया या छुपा दिया गया है। या फिर उसकी हत्या कर दी गई है। या फिर उसका अपहरण कर लिया गया है। या वो मानसिक रूप से अस्वस्थ है और कहीं चला गया है।

वो क्यों तिलमिलाता है जब उसका अकाउँट हैक हो जाता है?

नौकरी की मजबूरी आदर्शों से समझौता करने पर मजबूर कर देती है। आप निष्पक्षता का पश्मीना शॉल ओढ़े हुए हैं। अब वो पुराना हो गया है, गंदा हो गया है। उसकी ड्रायक्लीनिंग करवाईए, और थोड़े दिन अवकाश लेकर ख़ुद के प्रोग्राम देखिए कि कैसे आप वहीं जाते हैं जहाँ आपके मतलब की बातें होती हैं बाती हर जगह से आप ये कहकर भाग लेते हैं कि यहाँ तो एक ही तरह के विचार आ रहे हैं।

काला धन से कैशलेस इकॉनमी की तरफ… ये तो पहले नहीं बताया था!

तो प्रधानमंत्री जी, और तमाम मंत्री जी, फोकस शिफ्ट मत कीजिए। भ्रष्टाचार और काला धन के ख़िलाफ़ ये लड़ाई है। हो सकता है आप लड़ भी रहे होंगे, जनता आपके लिए लाइन में खड़ी भी है, वाह वाह भी कर रही है लेकिन अचानक से ये कैशलेस राग मत अलापिए।

प्राइम टाइम: स्लम कैसे बनते हैं? ग़रीब कहाँ से और क्यों आते हैं?

ग़रीब लोग, जो दिल्ली की सरकारी ज़मीन पर झोपड़पट्टियों में, स्लम बना कर रहते हैं वो कौन हैं और कहाँ से आते हैं? आज एक ख़बर देखी कि महरौली में एक स्लम को बुल्डोजर से तोड़ दिया गया। स्लम में आग लगना, बुल्डोजर से तोड़ दिया जाना, ख़ाली करा देना ऐसी ख़बरें हैं जिससे आपकी […]

प्राइम टाइम: एक विराट हिन्दू भयंकर सेकुलर गणतंत्र में क्या क्या होना चाहिए

ये सब ज़रूरी है, क्योंकि बाग़ों में बहार है, और बाग़ों से बाहर आपातकाल है। अगर ये सारी बातें कर दी जाएँ तो एक विराट हिन्दू राष्ट्र के साथ साथ सेकुलर गणतंत्र के रूप में हमारी गजब की छवि बनेगी।

6 दिसम्बर वाला प्राइम टाइम बाबरी मस्जिद से लाइव

एक-दो मस्जिद टूटे, वो याद रखना ज़रूरी है। क्या है कि इन यादों को याद दिलाते रहने से हमारा और नेताओं का पेट चलता है।

(मोदी से) नाराजदीप-सोनिया सास-बहू-साड़ी इंटरव्यू; ft सगारिका

नमस्कार, आज के चतुर-चाटू पत्रकार के प्राइम टाइम इंटरव्यू “मैडम आप कुछ भी करें मैं खखोर कर चाटूँगा” में आपका स्वागत है। दर्शकों के लिए बता दूँ कि खखोरना का मतलब है जीभ से ऐसे चाटना कि चटवाने वाले में चाटने के लिए कुछ ना बचे। रविश से हिंदी सीख रहा हूँ। अर्णब ने इतना […]