NSFW: एकांकी: हमको चाहिए आजादी

अगर सुबह बताएगी तो हमारे कामरेड सब तो ‘विक्टिम शेमिंग’ में आगे रहते ही हैं। फिर बाबा लोग समझा देंगे कि एक बलात्कार पीड़िता को ये पितृसत्तात्मक समाज कैसे देखता है। शर्म के मारे मर जाएगी। फिर भी नहीं मानेगी तो उसको रंडी बनाकर बदनाम कर देंगे…