पत्रकारिता के गिरते स्तर में ज़्यादा ज़िम्मेदारी किसकी?

मीडिया का काम सत्ता की आलोचना तक ही सीमित नहीं है। मीडिया का एक काम सूचना पहुँचाना है, और एक काम विवेचना है। विवेचना और चर्चा सिर्फ नाकामियाँ और खोट गिनाने के लिए नहीं होती, न ही सिर्फ हर बात को देवत्व के स्तर पर ले जाकर बताने के लिए होती है। जहाँ सत्ता सही कर रही है, जिस अनुपात में कर रही है, उसी अनुपात में आलोचना और विवेचना होनी चाहिए।

जेने की बालकनी में हमारे एंकर

दिल्ली की मीडिया ज्याँ जेने (Jean Genet) रचित नाटक ‘ले बालकन’ या ‘द बालकनी’ टाईप हो गई है। जेने के नाटक में एक वेश्यालय (बालकनी) सत्ता में हो रही गतिविधियों का एक केंद्र जैसा दिखता है और बाहरी शहर की दुनिया का माईक्रोकॉज़्म या सूक्ष्म रूप है। मैं वेश्यालय के लिए रंडीखाना शब्द का इस्तेमाल […]