जश्न मनाइए क्योंकि मोदी के राज में एक और दुर्घटना हुई है! येय!

‘अरे बिजली का तार गिर गया’, इतना कहना भर ही काफ़ी होता है बाईस लोगों की जान लेने के लिए। इसमें सरकार कहाँ हैं?

रेलमंत्री के नाम ख़त (A letter to my Railway Minister, Sadananda Gowda)

रेल किराया बढ़ने से आम आदमी को तब तक आपत्ति नहीं होगी जब आप निम्नलिखित समस्यायों का समाधान दें: १. टिकट समय पर मिले, एजेंट/दलाली का खात्मा हो २. हर स्टेशन साफ़ हो, जहाँ चलने में आसानी हो, बैठने की जगह हो ३. अनाउंसमेंट सिस्टम, इन्फाॅरमेशन देने वाला एलईडी बोर्ड सही हो ४. पूरी ट्रेन […]