फ़ेसबुक लाइव (मल्टीपल स्ट्रीम): नैरेटिव मेकर मीडिया पर नया प्रहार

सूचना पूर्णरूपेण प्रजातांत्रिक हो गई है कि ये किसी के भी हाथों में जा सकती है, और किसी के भी हाथों से आ सकती है।

घृणा की खेती करते फेसबुकिया बुद्धिजीवी की फ़र्ज़ी संवेदना

आप ये जताने की भरपूर कोशिश में हैं कि सरकारों ने ‘मॉब लिंचिंग’ का कोई कोर्स शुरु किया है जहाँ से प्लेसमेंट हो रहा है।

सोशल मीडिया के दौर में अजेण्डा सेटिंग और परम्परागत मीडिया परिदृश्य

अब स्टूडियो और सम्पादन कक्ष से पैसे लेकर एक विचारधारा के बीज बोने की परम्परा अस्तगामी है क्योंकि लोग सोशल मीडिया पर उनके झूठ तुरंत पकड़ लेते हैं।

मेनस्ट्रीम मीडिया की ब्रेकिंग न्यूज़, सोशल मीडिया और लिंकबाज़ी

हिटलर कहता था कि एक झूठ बोलो, बार बार बोलो और अंत में सब उसे सच मान लेंगे। भारतीय मीडिया (मेनस्ट्रीम मीडिया) का एकसूत्री एजेंडा बस यही है। भारतीय मीडिया के पुरोधा, मठाधीश जो ऊपर बैठे हैं वो पूरे देश का एजेंडा तय करते हैं जो कि हमेशा उनका अपना एजेंडा होता है।  ब्रेकिंग न्यूज़ […]