प्राइम टाइम: मेवाड़ के राजसमंद में ५० साल के मुस्लिम की हत्या किसने की?

ऐसे समय में चुप रहना सहमति देना है इस तरह के उन्माद को। ऐसे समय में चुप रहना बताता है कि आपके मन में चोर है। आप चाहते हैं कि हर मुसलमान ऐसे ही काटकर जला दिया जाय, और आप ये भी चाहते हैं कि पूरी दुनिया में बम और धमाकों के नाम पर इस्लामी हुकूमत आ जाय।