Assault on a gender: Is there a solution?

It is a disease. Patriarchy is central to it. The moment we attain a level of freedom in our thoughts that bequeaths respect for all genders, it will be a happy place to live in.
It is an individual problem which needs a political solution. State is an important component which, if it wills, can drastically reduce it in a period of two-three decades.

बलात्कार की सज़ा सात साल ही क्यों है? अण्डकोश निकालने का प्रावधान क्यों नहीं है?

ये समाज इतना सभ्य है कि बलात्कार ठीक है, लेकिन कानून किसी का लिंग नहीं काट सकता, अंडकोष नहीं निकाल सकता।

फ़ेसबुक पर सोए साहित्यकारों के नाम

सोशल मीडिया को समझिए और सेल्फी, प्रशंसा और आत्मुग्धता से ऊपर उठकर देश और समाज में हो रही बातों पर विचार रखिए। पूरे समाज की चर्चा का स्तर ऊपर उठाईए। आपको भी लाभ होगा, समाज को भी।

बैंग्लोर मोलेस्टेशन काण्ड, धोनी और ग़ायब होती चर्चा

विडियो देखिए। धोनी तो गए और साथ ही चर्चा में बैंगलोर काण्ड की जगह भी ग़ायब हो गई। सोशल डिस्कोर्स का शीघ्रपतन ऐसे ही होता है। अंग्रेज़ी के दर्शकों के लिए बता दूँ शीघ्रपतन इम्मेच्यॉर इजेकुलेशन को कहते हैं।

क्या यार! बलात्कार बंद हो गए…. बताईए!

देश में अचानक बंद हो गए बलात्कारों और ‘पेड़ पर लटके शवों’ के ना दिखने से मैं चिंतित हूँ। मैं ना तो दलित चिंतन कर पा रहा हूँ और ना ही इस घिनौने कृत्य की क्रांतिकारी रूप में भर्त्सना। सरकार को #RailFareHike अभी नहीं करना था। मीडिया को समाज के मज़े लेने देते कुछ दिन। […]

संवेदनशून्य मैं

आमतौर पर मैं आज़ादी या किसी और भी खुश होने वाले दिन खुश नहीं होता। कारण मुझे पता नहीं और न कभी मैंने इस विषय पर कोई आत्मचिंतन किया है । हो सकता है कि मुझे ज़रूरत महसूस न हुई हो। होने को तो प्याज का दाम भी कम हो सकता है और देश की […]

A rape is a rape

How does it affect or why is it a pain to accept that the girls who went to protest go to discos at night? How does it make it correct if a rape victim is characterless (who are you to decide that?)? What has character or profession to do with being raped? Is the rape of a prostitute any less traumatic then of a doctor or teacher (if at all you see a hierarchy)?