We are a society waiting to rape

If the kids pursuing bachelors giggle on the mention of ‘condom’, ‘sexual’, ‘intercourse’, ‘masturbation’ et al… If they have to assume a hidden identity, a troll, to vent their frustration on a girl by saying ‘xyz is pregnant’ on a Facebook page… If they feel proud by analysing a girl’s body as she passes and feel a necessity to share with a friend and call her names… You have a serious crisis in education system.

हरियाणा बराला काण्ड : लड़की को गरियाइए क्योंकि फ़ेसबुक में सिगरेट मिला है!

इस देश में सीसीटीवी इतने संवेदनशील होते हैं कि किसी अबला पर हो रहे अत्याचार को देख ही नहीं पाते। आखिर भाजपा के राज में सीसीटीवी का संस्कारी होना तो बनता है।

Assault on a gender: Is there a solution?

It is a disease. Patriarchy is central to it. The moment we attain a level of freedom in our thoughts that bequeaths respect for all genders, it will be a happy place to live in.
It is an individual problem which needs a political solution. State is an important component which, if it wills, can drastically reduce it in a period of two-three decades.

बलात्कार की सज़ा सात साल ही क्यों है? अण्डकोश निकालने का प्रावधान क्यों नहीं है?

ये समाज इतना सभ्य है कि बलात्कार ठीक है, लेकिन कानून किसी का लिंग नहीं काट सकता, अंडकोष नहीं निकाल सकता।

फ़ेसबुक पर सोए साहित्यकारों के नाम

सोशल मीडिया को समझिए और सेल्फी, प्रशंसा और आत्मुग्धता से ऊपर उठकर देश और समाज में हो रही बातों पर विचार रखिए। पूरे समाज की चर्चा का स्तर ऊपर उठाईए। आपको भी लाभ होगा, समाज को भी।

बैंग्लोर मोलेस्टेशन काण्ड, धोनी और ग़ायब होती चर्चा

विडियो देखिए। धोनी तो गए और साथ ही चर्चा में बैंगलोर काण्ड की जगह भी ग़ायब हो गई। सोशल डिस्कोर्स का शीघ्रपतन ऐसे ही होता है। अंग्रेज़ी के दर्शकों के लिए बता दूँ शीघ्रपतन इम्मेच्यॉर इजेकुलेशन को कहते हैं।